भ्रष्टाचार व आय से अधिक मामले में देर रात उत्तराखंड के इस IAS अधिकारी को किया गया गिरफ्तार !!

देर रात तक चली पूछताछ के बाद रामबिलास यादव को उत्तराखंड विजिलेंस ने गिरफ़्तार कर लिया है।

सरकार ने यादव को नौकरी से सस्पेंड भी कर दिया है।

इसी तीस तारीख़ को यादव सेवा निवृत होने जा रहे थे।

यादव पर लखनऊ और देहरादून में आय से अधिक सम्पत्ति में कई मुक़दमे दर्ज।

आय से अधिक संपत्ति के मामले में आईएएस अधिकारी रामविलास यादव को देर रात गिरफ्तार कर लिया गया है। राज्य सतर्कता निदेशक अमित सिन्हा की तरफ से जारी बयान के अनुसार दिनभर पूछताछ के बाद देर रात रामविलास यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है।

हाईकोर्ट के आदेश के बाद आइएएस राम विलास यादव कल विजिलेंस दफ्तर पहुंचे थे। जहां उनके द्वारा अपना पक्ष रखा गया और लंबी पूछताछ के बाद देर रात उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। आपको बता दें कि दो दिन पहले ही उत्तराखण्ड हाई कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर रोक के मामले पर सुनवाई की और विजिलेंस के सामने पेश होने को कहा था। अब इस मामले की अगली सुनवाई 23 जून को आज होनी थी लेकिन उससे पहले ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

आपको बता दें कि 30 जून को रिटायर होने वाले आईएएस अफसर रामविलास यादव का साथ उनके सियासी आकाओं ने छोड़ दिया है। पिछले दिनों राम विलास यादव के देहरादून और लखनऊ के कई ठिकानों पर विजिलेंस ने एक छापेमारी की कारवाई भी की थी। आय से 500 गुना ज्यादा संपत्ति एकत्र करने के मामले में विजिलेंस ने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है और इसकी जांच चल रही है। विजिलेंस के छापे में तमाम संपत्तियों का खुलासा भी हुआ है।

Editor in Chief